What is Adverb | Typs of Adverb | एडवर्ब कितने प्रकार के होते हैं?

Adverb Definition 

Adverb ऐसा शब्द होता है जो sentence में Verb या Adjective या अन्य Adverb या adverbial Phrase को विशेषता प्रदान करता है । या विशेषता  के अर्थ मे कुछ वृद्धि प्रदान करता है Adverb कहलाता है। इन Adverbs की पूर्ण जानकारी होने से हम हिन्दी का शुद्ध अनुवाद करते हैं ।

Example:

She ran fast   (Verb run की विशेषता को प्रकट करता है)
These are very sweet Apple (Adjective, sweet को संशोधित किया )
She speaks Very loudly ( Adverb Loudely पर effect पड़ा )
He was sitting close beside her ( Adverbial phrase, beside her को संशोधित करता है)
ध्यान दें
काभी काभी ये वाक्य के शुरू में प्रयुक्त होकर पूरे वाक्य के विशेषता को बताता है । Certainly He is wrong Fortunately we escaped unhurt

Rules and Position of Adverbs 

Adverb का प्रयोग हमे बहुत भलीभाँति करना चाहिए क्योंकि Adverb की जगह बदलने पर भी senetnce का अर्थ बदल जाता है जैसे नीचे दिए गए exapmle को पढ़ के लगा सकते हैं , Adverb अगर वाक्य के शुरू में होगा तो उस का अर्थ अलग होगा , और वहीं अगर बीच में होगा तो उस की menaning बाद जाएगी और आखिर मे प्रयोग होगा तो मतलब बदल जाएगा ध्यान पूर्वक नीचे दिए गए Example को पढ़ें ।

Only He can Speak. केवल वो बोल सकता है ।
He can only speak. (केवल वो बोल सकता है ) यानि लिख नहीं सकता
He can speak only. (केवल वह लिख सकता है ) लिखने के अल्वा वो कुछ नहीं कर सकता घर का बाहर का कार्य

तो इस तरह से आप देख सकते हैं कि Adverb के स्थान बदलने पर वाक्य के अर्थ मे बदलाओ आता है । चलिए अब देखते की Adeverb कितने प्रकार के होते हैं।

[ays_quiz id=”2″]

Types of Adverb ( एडवर्ब के प्रकार )

Adverb को हम उसके इस्तेमाल की बुनियाद पर कुछ अलग अलग भागों में बाँट सकते हैं।

  • Adverb of Manner
  • Adverbs of time
  • Adverbs of degree
  • Adverbs of place
  • Adverbs of frequency

1. Adverb of Manner 

ऐड्वर्ब ऑफ manner से हमें हमारे रहन सहन बात करने का तरीका और भी बाकी बातों को ध्यान रखता है इन Adverb में Slowly, Quickly, Easily, carefully, fast, calmly, fast, इत्यादि हैं, ये सब Adverb senetnce के Verb के बाद आते हैं, लेकिन अगर वाक्य में Verb का object bhi है तो Object के बाद इन Adverb को लगाना चाहिए जैसे;

Correct  Incorrect 
Anu talks well Anu well talks.
Rohan speaks English fluently. Rohan speaks fluently English.
It is raining regularly. It is regularly raining.
You read your book carefully. You carefully read your book.

2. Adverb of Time & Place

ये ऐसे Adverb होते हैं जिन से टाइम और स्थान verb और adverb के साथ प्रयुक्त होते हैं । जैसे ; Now, then, soon, next, day, yet इत्यादि। ऐसे ही प्लेस स्थान के लिए Here, there, on, इत्यादि verb के बाद लगते हैं लेकिन verb का कोई object भी होता है तो ये Object के बाद प्रयुक्त होते हैं। जैसे;

Correct Adverbs Of Time and Place use Incorrect Adverbs Of Time and Place use
He will come soon. He soon will come.
She will go to Jaipur the next morning. She will next day go to Jaipur.
He lives here. He here lives.
Rahul works there. Rahul there works.
There are papers everywhere. There are everywhere papers.

3. Adverb of Frequency

Adverbs of frequency में किसी हम always, often, daily, never, generally, rarely, जैसे adverb पाते हैं। और साथ में Just, almost, hardly, already, का प्रयोग भी देखने को मिलता है ये समानयतः Subject और Verb के बीच में प्रयोग होते हैं।

Correct Adverbs Of Frequency  Incorrect Adverbs Of Frequency 
His daughter never cooks food. His daughter cooks food never.
He often tells lies. He tells lies often.
She always speaks the truth. She speaks the truth always.
Rahul has never advised me. Rahul never has advised me.
I have just wakeup. I just have wake up.
ध्यान दें
अगर Adverb of Frequnecy में is / are / was / were Auxiliary verb का प्रयोग हुआ हो तो Adverb इनके बाद लगता है।

जैसे   1. He is always late.   2. she is often late  3. They are generally late.

इस तरह अगर वाक्य  में short answer देना हो या या किसी वर्ब को importance देना होतो इन Adverb of frequency को Auxiliary verb या verb के पहले प्रयोग में लाया जाता है जैसे ;

He has again forgotten to bring the medicine.

Yes, He always does forget to bring the key.    Or 

Yes, He always does. 

ध्यान दें Auxiliary have to / used to के साथ Adverb ऑफ frequency का प्रयोग उनसे पूर्व किया जाता है जैसे ;
  • I often have to go on a bicycle
  • He always used to take the bike.
  • She never has to take an umbrella.

Adverb, not का प्रयोग हमेशा Auxiliary के बाद एवं Principale Verb के -पहले किया जाता है जैसे ;

  1. You have not done your work.
  2.  She did not go to Delhi
  3. He will not wear a mask.
Adverb : Enough
Adverb enough का प्रयोग ऐसे शब्द के बाद किया जाता है , जिसे वह qualify करता हो । enough से पहले हमेशा Positive degree का adjective रहेगा । Comparative degree के बाद enough का प्रयोग नहीं किया जाता है ; 1. I have book enough to bit this exam. (2) They have dress enough to wear for this party.

Adverb: Only और even

only और even का प्रयोग हमेशा उस शब्द से पहिले लगाना चाहिए जिनके लिए इनका प्रयोग किया गया हो जैसे ;

  1. He can’not write even correct Hindi.
  2. He has only one bike.    ( उस के पास एक बाइक है )
  3. Only he has a bike.        ( केवल उस के पास बाइक है )
  4. He can not do even this work.

ऐड्वर्ब के क्रम ( Order of Adverb )

अगर एक senetnce में की प्रकार के adverb प्रयोग किए गए हिन तो इनको मुख्यतः इस पर कर रखेंगे Adverb of manner > Adeverb of Place > Adverb of Time इस प्रकार से आएगा जैसे;

  1. He sing loudly at the function of yesterday.
  2. She was going to Allahabad yesterday.
  3. He comes regularly on the ground floor daily.

यदि किसी वाक्य में adverb of टाइम को कई बार प्रयोग किया गया होतो ऐसे में हम सब से छोटे टाइम को पहिले लिखेंगे फिर उस से बड़े टाइम को फिर उसे से बड़े टाइम को जैसे

  1. He was born at 9.o’clock in the mornings on Sunday in 1990.
  2. She came here at 6 o’clock in the morning on Friday in 2002.

Some Important Adverbs List

बहुत से ऐसे adverb होते हैं जो देखने में एक जैसे लगते हैं लेकिन असल में उनके प्रयोग अलग अलग स्थान पर किया जाना चाहिए अन्यतः वाक्य का अर्थ बदल सकता है जैसे ; Hard/hardly, Much/ very much, still/ yet, late/ lately ऐसे बहुत से ऐड्वर्ब की लिस्ट नीचे दी गई है।

  1. Too /too
  2. Much/very
  3. Very much/much
  4. Since / Ever Since
  5. Late / lately
  6. Hard / Hardly
  7. Still / yet / Already
  8. Earley / soon
  9. Just

1. Adverb Too का अर्थ excess के संदर्भ में होता है Too का अर्थ में very को use करना सही नहीं होता है, Very का अर्थ बहुत होता है जब कि Too का अर्थ अतिशय यानि excess होता है ।

Too infinitive के बाद ‘to’ लगाने पर नेगटिव को प्रदर्शित कर्ता है जैसे ;

He is too poor to pay his room rent.   ( वह इतना गरीब है कि अपने रूम का किराया दे नहीं सकता )

काभी काभी too का प्रयोग भी के लिए भी होता है। जैसे;

She too went to America  ( वो भी गई अमेरिका)

2. Difference between Adverb Much / Very :

Much Adverb का प्रयोग comprative degree के adverb या adjective से पहले किया जाता है , जबकि वहीं Very का प्रयोग हम Possative degree के adverb / Adjective से पहले किया जाता है, ये काभी comprative डिग्री के साथ प्रयोग नहीं होते । जबकि positive डिग्री के साथ adverb / adjective से पहले much का प्रयोग नहीं होता है ।

1. Raheem is much stranger than Ram.    2. Reeta is much more beautiful than Soman.

3. Rahul is a very strong man.         4. Reema is a very intelligent girl.

Very much का प्रयोग comprative degree से पहले किया जाता है जैसे;

  1. Ram is very much stronger than Ganesh.

3.Difference between Adverb Very much / much :

सकर्तमाक sentence ( Affirmative sentence )  में very much का प्रयोग जाता है, जबकि नेगटिव वाक्य में much का प्रयोग होगा जैसे,

  1. She like her very much.
  2. she works very much.
  3. I don’t like her much.

4.Difference between Adverb Since / Ever since :

Since का प्रयोग perfect tence में किया जाता है इस का अर्थ हिन्दी में जब से , तब से, होता है जैसे ;

For example;    I have been watching movies since  6 o’clock.

काभी काभी वाक्य में since का प्रयोग setnce के अंत में किया जाता है , और इस के पहले ever का प्रयोग किया जाता है। जैसे;

  1. I first met her five years ago and have remembered her face ever since.  (मैं पहली बार उससे पांच साल पहले मिला था और तब से उसका चेहरा याद कर रहा हूं)
  2. I saw her three years ago and had been trying to meet her ever since.  (मैंने उसे तीन साल पहले देखा था और तभी से उससे मिलने की कोशिश कर रहा था)

5. Difference between Adverb late / lately 

ध्यान दें late का अर्थ होता है देरी से जब की lately का अर्थ देखें तो इस का अर्थ अभी होता है ; जैसे

  1. She came here late today. (वह आज यहां देर से आई)
  2. He has come lately.  (वह हाल ही में आया है)

late का इस्तेमाल Presnet Perfect में होता है क्यों की यह Present पूर्ण होने वाले कार्य को ही व्ययकत करता है

6.

6. Difference between Adverb Hard  / Hardly 

Hard की meaning कठिन होता है जब की Hardly का अर्थ negative में नहीं के अर्थ में लिया जाता है। जैसे ;

  1. He works hard. (वह कड़ी मेहनत करता है)
  2. He hardly works. (वह मुश्किल से काम करता है) लगभग नहीं के बराबर कार्य कर्ता है

7. Difference between Adverb  Still / Yet / Already 

(A) Still का प्रयोग वर्तमान में हो रहे किसी कार्य के लिए किया जाता है जबकी Past के लिए इस का प्रयोग नहीं किया जाता है। जैस;

  1. She is still single. (वह अभी भी सिंगल है)
  2. It is still raining. (अभी भी बारिश हो रही है)

(B) Not yet का इस्तेमाल feature में पूरे होने वाले कार्य की आशा को प्रदर्शित कर्ता है । जैसे;

  1. Has he come? or yet not. ( क्या वह आया है? या अभी नहीं )
  2. The Car hasn’t arrived yet. (कार अभी तक नहीं आई है )

(C) Quetion के साथ yet का प्रयोग ऐसे कार्य के लिए किया जाता है जिनके पूर्ण होने की आशा थी वे पूर्ण हुए या नहीं

  1. Is Dinner ready yet? (क्या अब तक रात्रि का भोजन तैयार हो गया है? )
  2. Has the Car arrived yet? ( क्या कार अभी तक आई है? )

(D) Already का प्रयोग कोई कार्य उम्मीद से पहिले पूर्ण हुआ होता है तो समान्यतः Already का प्रयोग किया जाता है ।

  1. When is He coming? He is already here. (वह कब आ रहा है? वह पहले से ही यहाँ है )
  2. You must visit Mumbai? I have already visited. (आपको मुंबई जाना चाहिए? मैं पहले ही जा चुका हूँ )

8. Difference between Adverb Early / Soon

Earley का इस्तेमाल Adjective एवं Adverb दोनों ही रूप मे किया जस्कता है। जैसे;

  1. He came here in Earley morning.

early का प्रयोग निर्धारित समय के लिए होता है , सुबह सुरू होने के साथ या बसंत सुरू होने के तुरंत बाद

  1. He came here in the early morning.

जब की soon का प्रयोग after a point of time के बाद के meaning में किया जाता है जैसे;

  1. He came to meet me soon after She arrived. (उसके आने के तुरंत बाद वह मुझसे मिलने आया )
  2. Get well soon. (जल्द ठीक हो जाओ )
  3. The work was hard, but she soon used to it. ( काम कठिन था, लेकिन उसे जल्द ही इसकी आदत हो गई )

soon एक शॉर्ट peroid के पॉइंट के बाद के लिए के अर्थ मे होता है ।

9. Adverb Just :

ये अभी के अर्थ मे प्रयोग होता है , ये सामान्यतः Presnet Perfect में किया जाता है , जैसे

  1. He has just arived.
  2. They have just gone out.

Just काभी काभी एकदम सही समय हेतु अर्थ में भी किया जाता है, तब इस का प्रयोग Simple Past में भी किया जस्कता है जैसे;

  1. They just caught the Bus. ( उन्होंने बस को अभी पकड़ा )
  2. She has just gone out.  ( वह अभी बाहर गई है )

just का अर्थ जब टाइम के साथ होता है तो कुछ ऐसे होता है

  1. It has just struck seven. ( अभी अभी 7 बजे हैं )
  2. It has just struck three.  ( अभी अभी  3 बजे हैं )

एडवर्ब कितने प्रकार के होते हैं?

एडवर्ब मुख्यतः 5 प्रकार के होते हैं या इनके उपयोग के आधार पर ज्यादा भी होसकते हैं।
1. Adverbs of Time(कालवाचक क्रियाविशेषण)
2. Adverbs of Frequency(आवृतिवाचक क्रियाविशेषण)
3. Adverbs of Manner(रीतिवाचक क्रियाविशेषण)
4. Adverbs of Place(स्थानवाचक क्रियाविशेषण)
5. Adverbs of Degree(परिमाणवाचक क्रियाविशेषण)
6. Adverbs of Reason(कारणवाचक क्रियाविशेषण)
7. Adverbs of Negation and Affirmation(नकारात्मक एवं स्वीकारात्मक क्रियाविशेषण)
8. Interrogative Adverbs(प्रश्नवाचक क्रियाविशेषण)
9. Relative adverbs(सम्बन्धवाचक क्रियाविशेषण)

एडवर्ब का मतलब क्या होता है?

Adverb ऐसा शब्द होता है जो sentence में Verb या Adjective या अन्य Adverb या adverbial Phrase को विशेषता प्रदान करता है

एडवर्ब को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

Adverb is a word that gives attribute to a Verb or Adjective or other Adverb or Adverbial Phrases in a sentence. Or provides some enhancement in the meaning of the attribute is called Adverb. Having full knowledge of these Adverbs, we do a pure translation of Hindi.

एडवर्ब मैनर किसे कहते हैं ?

ऐड्वर्ब ऑफ manner से हमें हमारे रहन सहन बात करने का तरीका और भी बाकी बातों को ध्यान रखता है इन Adverb में Slowly, Quickly, Easily, carefully, fast, calmly, fast, इत्यादि हैं,

Leave a Comment

Sorry! You cannot copy the content of this page